दिल्ली उच्च न्यायालय ने ‘दो पत्ती’ चुनाव चिन्ह पर टीटीवी दिनाकरन – शशिकला के दावे को खारिज किया

AIADMK to announce it's Candidate for Thiruvarur Assembly By-Poll by January 7

दिल्ली उच्च न्यायालय ने गुरुवार को चुनाव आयोग के फैसले को चुनौती देते हुए ऑल इंडिया द्रविड़ मुनेत्र कड़गम (एआईएडीएमके) के टीटीवी दिनाकरन और वीके शशिकला गुट की याचिका को खारिज कर दिया। ज्ञात हो की चुनाव आयोग ने दो-पत्तियों के प्रतीक पन्नीरसेल्वम को ओ पन्नीरसेल्वम और पलानीस्वामी गुट को आवंटित किया था । टीटीवी दिनाकरन अब फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का रुख कर सकते है ।

दिल्ली HC ने अपने फैसले में कहा कि उनके गुट को आवंटित ‘प्रेशर कुकर’ प्रतीक अगले 15 दिनों तक किसी और को नहीं आवंटित किया जाएगा। यह एक ‘फ्री सिंबल’ रहेगा।

AIADMK सुप्रीमो जयललिता की मृत्यु के बाद, AIADMK कैंप दो गुटों में बंट गया था | एक TTV दिनाकरन की अगुवाई में उप मुख्यमंत्री ओ पन्नीरसेल्वम और नेता शशिकला, जबकि दूसरा तमिलनाडु के मुख्यमंत्री ईके पलानीस्वामी के नेतृत्व में। बाद में पलानीस्वामी और पन्नीरसेल्वम साथ आ गए और शशिकला और दिनाकरन को पार्टी से बाहर कर दिया।

नवंबर 2017 में, चुनाव आयोग ने पन्नीरसेल्वम-पलानीस्वामी गुट को इस आधार पर दो-पत्तों का प्रतीक आवंटित किया कि उन्हें विधायी और संगठनात्मक विंग में सदस्यों के बहुमत का समर्थन प्राप्त था।

निर्णय से असंतुष्ट, “गैर-मान्यता प्राप्त” AIADMK नेताओं, दिनाकरन और शशिकला ने चुनाव आयोग के आदेश को अस्वीकार करते हुए दिल्ली उच्च न्यायालय का रुख किया।

Author: ElectionAdda