नए वोटर्स बनेंगे नेताओं के विधाता : 282 सीटों पर चुनावी समीकरण बना-बिगाड़ सकते हैं

Indian Youth First Time Voters

2019 लोकसभा चुनाव में 8.1 करोड़ मतदाता ऐसे होंगे जिन्‍होंने पिछले आम चुनाव के बाद 18 वर्ष की आयु पूरी की है। यह मतदाता कम से कम 282 सीटों पर चुनावी समीकरण बना-बिगाड़ सकते हैं।

इस बार लोकसभा के लिए होने वाले चुनाव में 29 राज्यों में कम से कम 282 सीटें ऐसी हैं जहां पहली बार वोट देने वाले युवा बड़ी भूमिका निभा सकते हैं। सीटों की ये संख्या सरकार बनाने के लिए जरूरी बहुमत से भी ज्यादा है। दिलचस्प ये है कि इन सीटों पर पहली बार वोट देने वाले युवाओं की जो संख्या होगी, वह 2014 में इन सीटों पर जीत के अंतर से भी ज्यादा होगी।

एक अनुमान के मुताबिक बताया जा रहा है कि इस बार हर लोक सभा क्षेत्र में औसतन 1.49 लाख ऐसे वोटर होंगे जो पहली बार मतदान करेंगे और यह संख्या 2014 में 297 सीटों पर जीत के अंतर से ज्यादा है। वैसे, इनमें से कई ऐसे वोटर हो सकते हैं जिन्होंने 2014 के बाद किसी विधानसभा चुनाव में अपने मताधिकार का उपयोग किया हो लेकिन बतौर लोकसभा चुनाव ये उनके लिए वोट डालने का पहला मौका होगा।

ऐसी 282 लोकसभा सीटों में से 217 देश के 12 बड़े राज्‍यों में हैं- पश्चिम बंगाल (32 सीट), बिहार (29), उत्‍तर प्रदेश (24), कर्नाटक (20), तमिलनाडु (20), राजस्‍थान (17), केरल (17), झारखंड (13), आंध्र प्रदेश (12), महाराष्‍ट्र (12), मध्‍य प्रदेश (11) और असम (10)। इन राज्‍यों में 2014 के बाद नए वोटर्स का राज्‍य औसत पिछले आम चुनावों के जीत के अंतर से ज्‍यादा है।

Author: ElectionAdda