मुलायम मैनपुरी से, और आजमगढ़ से डिंपल यादव हो सकती है सपा प्रत्याशी

मोदी लहर के बाद भी 2014 के लोकसभा चुनाव में आजमगढ़ से फतेह करने वाले मुलायम सिंह यादव इस बार यहां से चुनाव नहीं लड़ेंगे। विषम परि​स्थितियों में भी यहां से जीताने के बाद वह सपा के संस्थापक मुलायम सिंह यादव ने नहीं लड़ने का फैसला किया है। इस बार वह अपनी परम्परागत सीट मैनपुरी से चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने यहां से चुनाव जीतने के लिए उन्होंने पूरी तैयारी कर ली है।

सूत्रों से पता चला है कि​ इस लोकसभा चुनाव में आजमगढ़ से पार्टी डिंपल यादव को भी उतार सकती है। ​उनकी सीट कन्नौज से इस बार डिंपल यादव नहीं बल्कि अखिलेश यादव चुनाव लड़ेंगे।

वहीं मैनपुरी से सांसद तेज प्रताप सिंह यादव को इस बार कहीं से चुनाव नहीं लड़ेंगे। उन्हें पार्टी कहीं और से चुनाव या फिर किसी और जगह पर ऐडजस्ट करेगी।

आजमगढ़ पूर्वी उत्तरप्रदेश का प्रमुख जिला है, जहां से समाजवादी पार्टी के संरक्षक मुलायम सिंह यादव सांसद हैं | आजमगढ़ को समाजवादियों का गढ़ माना जाता है, पिछले कुछ चुनावों से वे लगातार यहां से जीत दर्ज करते आये हैं | 2014 के चुनाव में मुलायम सिंह यादव ने मैनपुरी और आजमगढ़ से चुनाव लड़ा था, लेकिन दोनों सीट जीतने के बाद उन्होंने मैनपुरी सीट छोड़ दी थी | इस बार का चुनाव इसलिए भी रोचक हो गया है क्योंकि मुलायम सिंह यादव ने नरेंद्र मोदी की पैरवी करते हुए यह कहा है कि वे दोबारा प्रधानमंत्री बन सकते हैं, साथ ही वे इस सीट से चुनाव भी नहीं लड़ रहे हैं |

Author: ElectionAdda